आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें PDF के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़े।

वृहद आर्थिक प्रवृत्तियों का परिदृश्य। राजस्थान आर्थिक समीक्षा 2020-21

 
Overview of macro economic trends


वृहद आर्थिक प्रवृत्तियों का परिदृश्य

सकल राज्य घरेलू उत्पाद (GSDP)
GSDP - Gross State Domestic Product.
राज्य अर्थव्यवस्था के अन्तर्गत बिना दोहरी गणना किए हुए एक निशचित अवधि में उत्पादित समस्त अन्तिम वस्तुओं एवं सेवाओं के मौद्रिक मूल्यों के योग को सकल राज्य घरेलू उत्पाद कहा जाता है। 
• सकल राज्य घरेलू उत्पाद अनुमानों को प्रचलित (Current) एवं स्थिर (Constant) दोनों कीमतों पर अनुमानित किया जाता है।


 GSDP
 % में परिवर्तन
 स्थिर मूल्य पर 
(आधार वर्ष 2011-12)

6.43 लाख करोड़ रुपए

 -6.61%
 प्रचलित मूल्य पर
9.57 लाख करोड़ रुपए

 -4.11%


भारत की GDP (स्थिर मूल्य पर) = 203 लाख करोड़ रुपए। 
(-7.73%)
राजस्थान की जीडीपी भारत की जीडीपी की 4.91% है।
राजस्थान की जीडीपी में क्षेत्रवार योगदान:-
1.कृषि > 2.बिजली > 3.गैस पाइपलाइन > 4.जलापूर्ति।

गैस पाइपलाइन में +ive वृद्धि हुई है।

शुद्ध राज्य घरेलू उत्पाद (NSDP)
(Net State Domestic Product)
सकल घरेलू उत्पाद समंको में से सकल स्थाई पूंजीगत
उपभोग को घटाकर शुद्ध राज्य घरेलू उत्पाद अनुमान प्राप्त किया जाता है।
Net GDP = GDP - Depreciation (consumption of fixed capital)
• सकल स्थाई पूंजी उपभोग, पूंजीगत स्कन्ध के उस हिस्से के प्रतिस्थापन मूल्य को मापता है, जिसका उपयोग वर्ष के दौरान उत्पादन प्रक्रिया में किया जाता है।


 NSDP
 % में परिवर्तन
 स्थिर मूल्य पर 
(आधार वर्ष 2011-12)

5.77 लाख करोड़ रुपए

 -6.58%
 प्रचलित मूल्य पर
8.62 लाख करोड़ रुपए

 -4.06%


सकल राज्य मूल्य वर्धन (GSVA)
(Gross State Value Added)


 GSVA
 % में परिवर्तन
 स्थिर मूल्य पर 
(आधार वर्ष 2011-12)

6.01 लाख करोड़ रुपए

 -6.1%
 प्रचलित मूल्य पर
8.99 लाख करोड़ रुपए

 -4.05%


वर्ष 2020-21 में GSVA में क्षेत्रवार योगदान (प्रचलित कीमतों पर):-
1.सेवा (45.43%)
2.कृषि (29.77%)
3.उद्योग (24.80%)

प्रति व्यक्ति आय (PCI)
(Per Capita Income)
प्रति व्यक्ति आय की गणना शुद्ध राज्य घरेलू उत्पाद को राज्य की मध्यवर्षीय कुल जनसंख्या से विभाजित कर प्राप्त की जाती है। 
प्रति व्यक्ति आय = NSDP/Population
• प्रति व्यक्ति आय लोगों के जीवन स्तर एवं कल्याण का सूचक है। 


 PCI
 % में परिवर्तन
 स्थिर मूल्य पर 
(आधार वर्ष 2011-12)

₹72,297

 -7.77%
 प्रचलित मूल्य पर
₹1,09,386

 -5.29%


सकल स्थाई पूँजी निर्माण (GFCF)
(Gross fixed capital formation)
सकल स्थाई पूंजी निर्माण को वर्ष के दौरान उत्पादनकर्ता द्वारा सृजित की गई परिसम्पत्तियों में से निस्तारित सम्पत्तियों (Disposal assets) को घटाने के बाद तथा गणना अवधि में गैर उत्पादित परिसम्पत्तियों  (non produced assets) को उत्पादन गतिविधियों में उपयोग की कीमत के आधार पर मापा जाता है।
• The gross fixed capital formation is measured by the total value of producers acquisition less disposal of fixed assets during the accounting period plus certain additions to the value of non produced assets released by the productive activity of institutional units.

• प्रचलित कीमतों पर वर्ष 2019-20 के अन्त में कुल सम्पत्तियाँ ₹2,71,696 करोड़ अनुमानित की गई हैं, जो सकल राज्य घरेलू उत्पाद (9,98,999 करोड़) का 27.20% है।
• वर्ष 2019-20 में सकल स्थाई पूंजी निर्माण में गत वर्ष 2018 -19 की तुलना में 2.67% की वृद्धि हुई। 

थोक मूल्य सूचकांक (WPI)
(Wholesale Price Index)
• उद्योग एवं वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी।
• प्रतिमाह जारी किया जाता है।
• इसमें केवल वस्तुएं शामिल की जाती है।

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI)
(Consumer Price Index)
• राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा जारी।
• इसमें वस्तुओं एवं सेवाओं को शामिल किया जाता है।
• चार प्रकार के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक बनाए जाते हैं -
1. CPI (Rural/urban) - NSO द्वारा।
2. औद्योगिक श्रमिकों के लिए (CPI-IW)
(IW - Industrial worker)
3. ग्रामीण मजदूरों के लिए (CPI-RL)
(RL - Rural labourer)
4. कृषि मजदूरों के लिए (CPI-AL)
(AL - Agricultural labourer)

नोट:- CPI (Rural/urban) एनएसओ द्वारा जबकि शेष सभी CPI श्रम ब्यूरो (शिमला) के द्वारा जारी किए जाते हैं।

राजस्थान में थोक मूल्य सूचकांक (WPI)
आधार वर्ष 1999-2000
• प्रतिमाह जारी।
• 154 वस्तुएं इसमें शामिल की गई है।
75 प्राथमिक वस्तुएं।
69 विनिर्माण वस्तुएं।
10 विनिर्माण वस्तुएं।

CPI-IW:-
• श्रम ब्यूरो (शिमला) द्वारा जारी।
आधार वर्ष - 2016
• इसमें राजस्थान के 3 केंद्र है -
जयपुर केंद्र, अलवर केंद्र, भीलवाड़ा केंद्र। (JAB)

नोट:- आधार वर्ष 2001 के स्थान पर 2016 जबकि अजमेर केंद्र की जगह अलवर केंद्र किया गया है।

CPI-AL:-
• श्रम ब्यूरो (शिमला) द्वारा जारी।
आधार वर्ष - 1986-87

CPI (Rural/Urban):-
• एनएसओ द्वारा जारी।
• आधार वर्ष 2012

राजस्थान की प्रमुख विशेषताओं का अखिल भारत से तुलनात्मक विवरण:-

 सूचक
 वर्ष
  इकाई
 राजस्थान
 भारत
 भौगोलिक क्षेत्रफल
2011
लाख वर्ग किमी
3.42
32.87 
 जनसंख्या
2011
 .करोड़
6.85
121.09
दशकीय वृद्धि दर
2001-2011
 प्रतिशत
21.3
17.7
जनसंख्या घनत्व
2011
जनसंख्या प्रति वर्ग किमी.
 200
 382
कुल जनसंख्या से शहरी जनसंख्या का प्रतिशत
 2011
 प्रतिशत
 24.9
 31,1
अनुसूचित जाति की जनसंख्या
 2011
 प्रतिशत
17.8 
 16.6
अनुसूचित जनजाति की जनसंख्या
 2011
 प्रतिशत
13.5
 8.6
लिंगानुपात 
 2011
 महिलाएं प्रति हजार पुरूष
928
 943
 बाल लिंगानुपात (0-6 वर्ष)
 2011
 बालिकाएं प्रति हजार बालक
888 
 919
 साक्षरता दर
 2011
 प्रतिशत
66.1 
 73.0
 साक्षरता दर (पुरूष)
 2011
 प्रतिशत
79.2
 80.9
 साक्षरता दर (महिला)
 2011
 प्रतिशत
52.1
 64.6
 कार्य सहभागिता दर
 2011
 प्रतिशत
43.6
 39.8
 जन्म दर
 2018*
 प्रति हजार जनसंख्या
24.0
20.0 
 मृत्यु दर
 2018*
 प्रति हजार जनसंख्या
 5.9
 6.2
 शिशु मृत्यु दर
 2018*
 प्रति हजार जीवित जन्म
37
 32
 मातृ मृत्यु अनुपात
 2016-18*
 प्रति लाख जीवित जन्म
164 
113 
 जन्म के समय जीवन प्रत्याशा
 2014-18*
 वर्ष
68.7
 69.4
 

नोट:- किसी भी प्रकार की अपडेट के लिए www.devedunotes.com को देखें। (क्योंकि PDF शेयर करने के बाद PDF में कुछ नहीं किया जा सकता है।
• वेबसाइट पर सभी महीनों का राजस्थान करेंट अफेयर्स एवं राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स भी उपलब्ध है।
• टॉपिकवाइज (खेल जगत, पर्यावरण, Sci-tech, योजनाएं, सूचकांक,...) भी उपलब्ध है।

SAVE WATER

राजस्थान आर्थिक समीक्षा की ऑनलाईन क्विज के लिए 👉 Click Here

इससे संबंधित Springboard Academy Jaipur का यूट्यूब वीडियो देखें 👇👇👇


Post a Comment

0 Comments