आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़ेें

साइंस एंड टेक्नोलॉजी सितंबर 2020

साइंस एंड टेक्नोलॉजी सितंबर 2020

साइंस एंड टेक्नोलॉजी सितंबर 2020

Science and technology september 2020

एयूडीएफएस-01 
पुणे के डॉक्टर कनक शाह के नेतृत्व में खगोलविदों की एक टीम ने नई आकाशगंगा की खोज की है।
इसका नाम एयूडीएफएस-01 आकाशगंगा रखा गया है।

साल्मोनेला बैक्टीरिया
अगस्त 2020 में संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में लोगों में प्याज के सेवन से 'साल्मोनेला' बैक्टीरिया का संक्रमण हुआ है।

साल्मोनेला बैक्टीरिया जानवरों में पाया जाता है। जब यह मानव शरीर में प्रवेश करता है, तो यह साल्मोनेलोसिस  का कारण बनता है। इसके अलावा लोग दूषित भोजन या दूषित पानी पीने सहित कई स्रोतों से साल्मोनेला से संक्रमित हो सकते हैं।
यह संक्रमण आंत पर हमला करता है, और दस्त, पेट दर्द, बुखार, उल्टी, और मल में रक्तस्राव का कारण बन सकता है।
पहली बार इस बैक्टीरिया को 1885 में एक अमेरिकी वैज्ञानिक डॉ. डैनियल ई. साल्मन द्वारा खोजा गया था।

टोगो बना नींद की बीमारी खत्म करने वाला पहला देश
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा 27 अगस्त, 2020 को प्रमाणित होने के बाद टोगो 'मानव अफ्रीकी ट्रिपेनोसोमियासिस' या नींद की बीमारी को खत्म करने वाला अफ्रीका का पहला देश बन गया है।
यह रोग परजीवी के कारण होता है।
• डब्ल्यूएचओ के अनुसार, 36 उप-सहारा अफ्रीकी देशों में वर्तमान में नींद की बीमारी पायी जाती है।
अफ्रीका में नींद की बीमारी के दो प्रकार पाये गए हैं -
पहला प्रकार 'ट्रिपैनोसोमा ब्रूसी गाम्बिएंस' परजीवी
जबकि दूसरा प्रकार 'ट्रायपैनोसोमा ब्रूसी रोड्सेंस' परजीवी के कारण होता है।

भारतीय रेलवे ने COVID-19 रोगियों को भोजन और दवा पहुँचाने में मदद करने के लिए 'MEDBOT' नामक एक रिमोट-नियंत्रित मेडिकल ट्रॉली विकसित की है।

रीसेट - 2 बीआर 1
• यह रीसेट - 2 का आधुनिक वर्जन है।
• इसे इसरो द्वारा दिसंबर 2019 में लॉन्च किया गया।
यह दिन और रात दोनों समय काम करता है और यह किसी भी मौसम में तस्वीरें लेने में सक्षम है।
यह माइक्रोवेव फ्रीक्वेंसी पर काम करने वाला सेटेलाइट है। इसलिए इसे रडार इमेजिंग सेटेलाइट कहते हैं।
• अंतरिक्ष में 576 किलोमीटर की ऊंचाई से देश की सीमा पर नजर रख रहा है।
• चीन से विवाद के चलते यह वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अंतरिक्ष से अदृश्य जासूस की भूमिका निभा रहा है और चीन की हर हरकत पर नजर रख रहा है।
• गौरतलब है कि सर्जिकल स्ट्राइक में भी रीसेट - 2 की अहम भूमिका रही थी।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री द्वारा EnglishPro नामक एक फ्री मोबाइल ऐप लॉन्च किया गया है।
इस मोबाइल एप्लिकेशन को हैदराबाद स्थित अंग्रेजी और विदेशी भाषाओ के संस्थान द्वारा विश्वविद्यालय सामाजिक दायित्व (यूएसआर) के तहत विकसित किया गया है।

पंजाब सरकार ने राज्य में हरियाली बनाए रखने करने और पंजाब में पर्यावरण संक्षरण के लिए I Rakhwali ऐप  लॉन्च की है।

डीआरडीओ ने 7 सितंबर को ओडिशा तट के पास व्हीलर डॉ. अब्दुल कलाम लांचिंग पैड से स्वदेशी मानव रहित हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी डेमोंस्ट्रेटर व्हीकल  (एचएसटीडीवी) का सफल परीक्षण किया है।
• भारत अमेरिका, रूस और चीन के बाद ऐसा चौथा देश बन गया जिसके पास हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी है।
• डीआरडीओ द्वारा विकसित इस तकनीक में स्क्रैमजेट इंजन का उपयोग किया गया है।

चंद्रयान -3 
केंद्रीय अंतरिक्ष राज्य मंत्री, डॉ. जितेंद्र सिंह ने 6 सितंबर, 2020 को कहा है कि, वर्ष 2021 के शुरू में भारत के चंद्रमा के मिशन, चंद्रयान -3 को लॉन्च किये जाने की संभावना है।
• चंद्रयान -2 के विपरीत, इस मिशन में ऑर्बिटर शामिल नहीं होगा, लेकिन इसमें एक रोवर और एक लैंडर शामिल होंगे।

अंतरिक्ष यान को दिया गया कल्पना चावला का नाम
अमेरिका की एयरोस्पेस कंपनी नॉर्थरोप ग्रुमैन ने अपने अगले अंतरिक्ष यान एनजी-14 सिग्नस स्पेसक्राफ्ट को भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला का नाम दिया है।
• एसएस कल्पना चावला अंतरिक्ष यान को 29 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना किया जाएगा।

बिहार बीजों की ट्रैकिंग व्यवस्था शुरू करने वाला देश का पहला राज्य बना है।

केजी बेसिन में मीथेन हाइड्रेट का विशाल भंडार
केंद्र सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत काम करने वाले आगरकर अनुसंधान संस्थान द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार कृष्णा-गोदावरी (केजी) बेसिन में मीथेन हाइड्रेट का विशाल भंडार है, जो स्वच्छ ईंधन का स्त्रोत है।
• गौरतलब है कि मीथेन एक स्वच्छ और कम लागत वाला ईंधन होता है।
• एक घन मीटर मीथेन हाइड्रेट में 160 से 180 घन मीटर मीथेन होती है।

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और दवा कंपनी एस्ट्राजनेका के संयुक्त प्रयास से विकसित वैक्सीन एजेडडी 1222 का ट्रायल फिर से शुरू कर दिया गया है।
• हाल ही एक वॉलिंटियर में गंभीर लक्षण मिलने पर ट्रायल रोक दिए गए थे।

प्रत्येक साल विश्व ओजोन दिवस 16 सितंबर को मनाया जाता है।
• ओजोन परत गैस की एक नाजुक परत (ढाल) है, जो पृथ्वी को सूर्य की किरणों के हानिकारक प्रभाव से बचाने का काम करती है और इस प्रकार यह पृथ्वी पर जीवन को संरक्षित करने में अहम भूमिका निभाती है।
• ओजोन परत समताप मंडल में स्थित है।
• ओजोन परत की खोज साल 1913 में फ्रांस के भौतिकविदों फैबरी चार्ल्स और हेनरी बुसोन ने की थी।

शुक्र ग्रह पर जीवन 
वैज्ञानिकों ने 14 सितंबर, 2020 को खुलासा किया है, कि उन्होंने निर्जन शुक्र ग्रह पर जीवन के संभावित संकेतों का पता लगाया है। इन वैज्ञानिकों ने शुक्र ग्रह के अम्लीय बादलों में फॉस्फीन नामक एक गैस का पता लगाया है, जिससे यह इंगित होता है कि, पृथ्वी के पड़ोसी में जीवाणुओं का वास हो सकता है।

एंटी सैटेलाइट मिसाइल पर डाक टिकट
डाक विभाग द्वारा 15 सितंबर, 2020 को अभियंता दिवस के अवसर भारत के पहले एंटी सैटेलाइट मिसाइल (A-SAT) पर विशिष्ट रूप से निर्मित मेरा डाक टिकट जारी किया गया।
डीआरडीओ ने 27 मार्च, 2019 को ओडिशा के डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से एंटी-सैटेलाइट (A-SAT) मिसाइल परीक्षण मिशन शक्ति का सफल परीक्षण किया था।

पोषण अभियान के तहत कुपोषण को नियंत्रित करने के लिए 20 सितंबर, 2020 को आयुष मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।
निकट भविष्य में प्रत्येक आंगनवाड़ी में ‘न्यूट्री-गार्डन’ और ‘औषधीय उद्यान’ स्थापित किए जाएंगे।
डिजिटल मीडिया पर कुपोषण से निबटने के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए हैशटैग ‘#आयुष4 आंगनवाड़ी’ शुरू करने का भी फैसला किया है।

प्रत्येक वर्ष 21 सितंबर को विश्व स्तर पर विश्व अल्जाइमर दिवस मनाया जाता है।
• अल्जाइमर, मस्तिष्क से जुड़ी बीमारी है, जिसमें व्यक्ति धीरे-धीरे अपनी याददाश्त खोने लगता है।

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के जंगलों में छिपकली की एक दुर्लभ प्रजाति टरमाइट हिल गीको मिली है।

सीएसआईआर लैब, दिल्ली ने देश की पहली सबसे सस्ती कोविड-19 टेस्ट किट विकसित की है। इसका नाम फेलूदा रखा गया है।

सैंडलवुड स्पाइक डिजीज
सितंबर 2020 में भारत में चंदन के वृक्ष अर्थात् सैंडलवुड विनाशकारी ‘सैंडलवुड स्पाइक डिजीज’ (Sandalwood Spike Disease- SSD) के कारण एक गंभीर खतरे का सामना कर रहे हैं।
सैंडलवुड स्पाइक डिजीज एक संक्रामक रोग है, जो पौधे के ऊतकों के जीवाणु परजीवी 'फाइटोप्लाज्मा' के कारण होता है। वे कीट वैक्टर द्वारा प्रेषित होते हैं।
यह रोग सर्वप्रथम वर्ष 1899 में कर्नाटक के कोडागु जिले में देखा गया था।
अभी इसके रोकथाम के लिए कोई उपाय नहीं है। 
• हाल ही कर्नाटक एवं केरल के चंदन वृक्षों में इस रोग का संक्रमण फैल गया है। प्रसार रोकने के लिए पेड़ को काटना पड़ता है।
• 1998 में आईयूसीएन द्वारा चंदन को द्वारा 'अतिसंवेदनशील' (vulnerable) के रूप में वर्गीकृत किया गया था।
• टीपू सुल्तान ने इसे मैसूरु का 'रॉयल ट्री' घोषित किया था।

चीन में कोरोना वायरस के बाद अब ब्यूबोनिक प्लेग फैल गया है। इससे देश के दक्षिणी-पश्चिमी हिस्‍से में आपातकाल लगा दिया गया है।

ब्यूबोनिक प्लेग क्या है?
ब्यूबोनिक प्लेग एक अत्यधिक संक्रामक और घातक बीमारी है जो ज्यादातर रोडेंट्स (Rodents) से फैलता है. 
डब्लूएचओ के अनुसार यह बीमारी बैक्टीरिया यर्सिनिया पेस्टिस के कारण होती है, जो आम तौर पर छोटे स्तनधारियों और उनके पिस्सू में पाए जाने वाले एक जूनोटिक जीवाणु होते हैं। 
यह बीमारी आमतौर पर पिस्सू के काटने से फैलती है जो चूहों, खरगोशों और गिलहरियों जैसे संक्रमित जीवों पर भोजन के लिए निर्भर करता है।
इस रोग को ब्लैक डेथ भी कहते है।

 केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 28 सितंबर, 2020 को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) वैक्सीन वेब पोर्टल और कोविड -19 के लिए राष्ट्रीय नैदानिक ​​रजिस्ट्री (नेशनल क्लिनिकल रजिस्ट्री) का शुभारंभ किया है।
• इसके तहत कोविड -19 वैक्सीन विकास के बारे में सभी जानकारियां सरल और पारदर्शी तरीके से प्रदान की जाएंगी।

कांगो फीवर
कांगो बुखार एक वायरल बीमारी है। यह एक विशेष प्रकार की किलनी के जरिए एक पशु से दूसरे पशु में फैलती है। इस बीमारी से संक्रमित पशुओं के खून से या फिर उनका मांस खाने से यह बीमारी मनुष्यों में फैलती है।
• हाल ही महाराष्ट्र में कांगो फीवर के केस मिले हैं।

रजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार देश में लोगों की औसत आयु (जीवन प्रत्याशा) 69 से बढ़कर 69.4 वर्ष हो गई है।

SAVE WATER

Post a Comment

1 Comments