आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़ेें

खेल पुरस्कार 2020

Sports award 2020


खेल पुरस्कार

महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन के अवसर पर प्रतिवर्ष 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है।
राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर विभिन्न खेलों में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों और उनके प्रशिक्षकों (कोचों) को खेल पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं। (राष्ट्रपति भवन में)

युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा खेल पुरस्कार की घोषणा की जाती है।

• कोविड-19 महामारी के कारण इस वर्ष पहली बार राष्ट्रीय खेल पुरस्कार वितरण समारोह वर्चुअली आयोजित किया जाएगा।

प्रमुख खेल पुरस्कार

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार

यह भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार है, जिसे खेल रत्न पुरस्कार भी कहा जाता है।
यह पुरस्कार किसी खिलाड़ी द्वारा पुरस्कार दिए जाने से पहले 4 वर्षों में खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया जाता है।
• पहली बार यह पुरस्कार 1991-92 में दिया गया।
• पहली बार - विश्वनाथन आनंद (शतरंज)
• पुरस्कार राशि - 25 लाख रुपए

ध्यानचंद पुरस्कार
उन खिलाड़ियों के लिए जिन्होंने अपने प्रदर्शन से खेलों में योगदान दिया है और संन्यास के बाद भी खेल को बढ़ावा देने में योगदान दे रहे हैं। (खेल विकास के क्षेत्र में जीवन भर योगदान देने के लिए)
• पहली बार यह पुरस्कार 2002 में दिया गया।
• पहली बार - शाहूराज बिरजदार
• पुरस्कार राशि - 10 लाख रुपए

द्रोणाचार्य पुरस्कार

यह पुरस्कार उन खेल प्रशिक्षकों (कोचों) को दिया जाता है, जिन्होंने खिलाड़ियों या टीमों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट परिणाम प्राप्त करने में सक्षम बनाया है।
• यह दो श्रेणियों में दिया जाता है -
1. जीवन पर्यंत श्रेणी (Lifetime)
2. नियमित श्रेणी (Regular)
• पहली बार यह पुरस्कार 1985 में दिया गया।
• पहली बार - भालचंद्र भास्कर भगवद (कुश्ती)
ओमप्रकाश भारद्वाज (मुक्केबाजी), नम्बियार (एथलेटिक्स)
• पुरस्कार राशि - 15 लाख रुपए


अर्जुन अवॉर्ड

यह पुरस्कार उन खिलाड़ियों को दिया जाता है जिन्होंने पिछले 4 वर्षों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लगातार श्रेष्ठ प्रदर्शन किया हो तथा नेतृत्व, खेल कौशल और अनुशासन की भावना भी दिखाई हो।
• पहली बार यह पुरस्कार 1961 में दिया गया।
• पुरस्कार राशि - 15 लाख रुपए


खेल पुरस्कार 2020

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार

इस वर्ष यह पुरस्कार क्रिकेटर रोहित शर्मापहलवान विनेश फोगाट, महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल, टेबल टेनिस चैंपियन मनिका बत्रा और पैरालंपियन मरियप्पन थंगावेलु को दिया जाएगा।

रोहित शर्मा - भारतीय टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा ने वनडे विश्व कप 2019 में 5 शतक लगाए थे। ऐसा करने वाले वे पहले खिलाड़ी हैं।
• रोहित शर्मा से पहले सचिन तेंदुलकर (1997-98), महेंद्र सिंह धोनी (2007) और विराट कोहली (2018) को खेल रत्न पुरस्कार मिल चुका है।

विनेश फोगाट - 2019 विश्व चैंपियनशिप में विनेश ने रजत पदक जीता था।
विनेश फोगाट टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुकी है।

रानी रामपाल - भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल की कप्तानी में टीम ने 2018 एशियन गेम्स में रजत पदक जीता था।

मनिका बत्रा - 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में दो स्वर्ण पदक जीते।
2018 एशियन गेम्स में भी कांस्य पदक जीता।

मरियप्पन थंगावेलु - विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर 2021 पैरालंपिक के लिए क्वालीफाई किया है।



अर्जुन अवॉर्ड


इस वर्ष 27 खिलाड़ियों को यह पुरस्कार दिया जाएगा।


खिलाड़ी
खेल

खिलाड़ी
खेल
 1
 अतानु दास
 तीरंदाजी
15 
दीपिका
हॉकी 
 2
 दुती चंद
 एथलेटिक्स
16 
दीपक हुड्डा
कबड्डी 
 3
विशेष भृगुवंशी
 बास्केटबॉल
17
मनु भाकर
निशानेबाजी
 4
मनीष कौशिक
 मुक्केबाजी
18
सौरभ चौधरी
निशानेबाजी
 5
लवलीना बोरगोहेन
 मुक्केबाजी
19 
दिविज शरण
टेनिस 
 6
ईशांत शर्मा
 क्रिकेट
20 
दिव्या काकरान
कुश्ती
 7
दीप्ति शर्मा 
 क्रिकेट
21 
राहुल अवारे
कुश्ती 
 8
अजय सावंत
 अश्वारोही
22 
संदीप चौधरी
पैरा एथलेटिक्स
 9
संदेश झिंगन
 फुटबॉल
23 
मनीष नरवाल 
पैरा निशानेबाजी
10
अदिति अशोक
 गोल्फ
24 
सुयश नारायण जाधव
पैरा स्विमिंग
11
आकाशदीप सिंह
 हॉकी
25 
शिवा केशवन
शीतकालीन खेल 
12
सात्विक साईराज रंकीरेड्डी
 बैडमिंटन
26 
काले सारिका सुधाकर
 खो खो
13
चिराग चंद्रशेखर शेट्टी
बैडमिंटन
27 
दत्तू बबन भोकानल
 रोइंग
14
मधुरिका सुहास पाटकर
टेबल टेनिस





द्रोणाचार्य पुरस्कार (जीवन पर्यंत श्रेणी):-


खिलाड़ी
खेल

खिलाड़ी
खेल
 1
धर्मेंद्र तिवारी
तीरंदाजी
 5
कृष्ण कुमार हुड्डा
कबड्डी
 2
पुरुषोत्तम राय 
एथलेटिक्स
 6
नरेश कुमार
टेनिस
 3
शिव सिंह
मुक्केबाजी
 7
ओम प्रकाश दहिया
कुश्ती
 4
रोमेश पठानिया
हॉकी
 8
विजय भालचंद्र मुनीश्वर
पैरा पावरलिफ्टिंग


द्रोणाचार्य पुरस्कार (नियमित श्रेणी):-


खिलाड़ी
खेल

खिलाड़ी
खेल
1
योगेश मालवीय
मल्लखंब
गौरव खन्ना
पैरा बैडमिंटन
2
जसपाल राणा 
निशानेबाजी
5
जूड फेलिक्स सेबेस्टियन 
हॉकी
 3
कुलदीप कुमार हांडू
वुशु





ध्यानचंद पुरस्कार:-


खिलाड़ी
खेल

खिलाड़ी
खेल
1
जिंसी फिलिप्स 
एथलेटिक्स
 9
मनप्रीत सिंह
कबड्डी
2
प्रदीप श्रीकृष्ण गंधे 
बैडमिंटन 
10
अजीत सिंह
हॉकी 
3
तृप्ति मुर्गंडे
बैडमिंटन
11
मंजीत सिंह
रोइंग 
एन. उषा 
मुक्केबाजी
12
नंदन पी बाल 
टेनिस
लाखा सिंह
मुक्केबाजी
13
नेत्रपाल हुड्डा
कुश्ती
सुखविंदर सिंह संधू
फुटबॉल 
14
सत्यप्रकाश तिवारी 
पैरा बैडमिंटन 
7
कुलदीप सिंह भुल्लर
एथलेटिक्स
15
स्वर्गीय सचिन नाग 
तैराकी
8
जे रंजीथ कुमार
पैरा एथलेटिक्स




भारत के खेल मंत्री कौन है ? - किरन रिजिजू

नोट - इस वर्ष पुरस्कार राशि बढ़ाए जाने पर विचार किया जा रहा है।

हरियाणा की दीपा मलिक राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त करने वाली पहली महिला पैरा एथलीट हैं। (2019 में बनी)

झुंझुनू के पैरा एथलीट बनेंगे अर्जुन अवॉर्डी

राजस्थान में झुंझुनू जिले के खेतड़ी क्षेत्र के मेहाड़ा जाटूवास गांव के जैवलिन थ्रो के पैरा एथलीट संदीप चौधरी को अर्जुन अवार्ड प्रदान किया जाएगा।
संदीप ने इंडोनेशिया के जकार्ता में 2018 के एशियाई पैरा खेलों में भाला फेंक स्पर्धा में विश्व रिकॉर्ड के साथ भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था। संदीप ने नवंबर 2019 में दुबई में आयोजित पुरुष भाला फेंक एफ 64 वर्ग में पैरा वर्ल्ड चैंपियनशिप में पुरुष वर्ग में भाला फेंक स्पर्धा में 66.18 मीटर भाला फेंक कर स्वर्ण पदक जीत कर विश्व रिकार्ड बनाया था।

मध्य प्रदेश के सतेन्द्र लोहिया तेनजिंग नोर्गे अवार्ड पाने वाले देश के पहले दिव्यांग खिलाड़ी बने है।
लोहिया अमेरिका में 42 किलोमीटर के केटलीना चैनल को सिर्फ 11:34 घंटे में तैरकर पार करने वाले पहले एशियाई दिव्यांग तैराक बने थे।
तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कारों को साहसिक खेलों के लिए भारत का सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार माना जाता है। इन पुरस्कारों को अर्जुन पुरस्कार के बराबर माना जाता हैं।

राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए पुरस्कार धनराशि बढ़ाने की घोषणा
29 अगस्त, 2020 को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने राष्ट्रीय खेल एवं साहसिक पुरस्कारों की 7 श्रेणियों में से 4 के लिए पुरस्कार धनराशि बढ़ाने की घोषणा की।
राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार की राशि 7.5 लाख रूपये से बढ़ाकर 25 लाख रूपये कर दी गई है।
अर्जुन पुरस्कार और द्रोणाचार्य (आजीवन) पुरस्कार की राशि 5-5 लाख रूपये से बढ़ाकर 15-15 लाख रूपये कर दी गई है।
द्रोणाचार्य (नियमित) और ध्यानचंद पुरस्कार की राशि भी पांच- पांच लाख रूपये से बढ़ाकर दस-दस लाख रूपये कर दी गई है।

SAVE WATER

Post a Comment

0 Comments