आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़ेें

भारत वन स्थिति रिपोर्ट 2019

भारत में वन, www.devedunotes.com



भारत वन स्थिति रिपोर्ट 2019

India state of forest report 2019
• यह रिपोर्ट भारतीय वन सर्वेक्षण (FSI) - देहरादून (1981) द्वारा प्रत्येक 2 वर्ष में तैयार की जाती है।
FSI, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के अधीन आता है।
जारीकर्ता - पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय

• पहली रिपोर्ट 1987 में जारी की गई थी।
• 30 दिसंबर 2019 को 16वीं भारत वन स्थिति रिपोर्ट जारी की गई।

• इस रिपोर्ट को जारी करने में भारतीय दूर संवेदी उपग्रह रिसोर्स सैट -2 से प्राप्त आंकड़ों का प्रयोग किया जाता है।

वनावरण या वन क्षेत्र या Forest cover
वह सभी भूमि जिसका क्षेत्रफल 1 हेक्टेयर से अधिक हो और वृक्ष घनत्व 10 % से अधिक हो वनावरण कहलाता है। भूमि का स्वामित्व व कानूनी दर्जा इसे प्रभावित नहीं करता है। यह आवश्यक नहीं है कि इस प्रकार की भूमि अभिलेखित वन में सम्मिलित हो।

वृक्षावरण या वृक्षों से आच्छादित क्षेत्र या Tree cover
इसमें अभिलेखित वन क्षेत्र के बाहर 1 हेक्टेयर से कम आकार के वृक्ष खंड आते हैं।
वृक्ष आवरण में सभी प्रकार के वृक्ष आते हैं, जिनमें छितरे हुए वृक्ष भी सम्मिलित हैं।

Total tree cover in india



भारतीय वन स्थिति रिपोर्ट 2017 की तुलना में वृक्ष तथा वनावरण में कुल 5188 वर्ग किमी की वृद्धि हुई है। (भारतीय वन स्थिति रिपोर्ट 2017 का 0.65%)
• वनावरण में 3976 वर्ग किमी की वृद्धि (0.56%)
• वृक्षावरण में 1212 वर्ग किमी की वृद्धि (1.29%)

 सर्वाधिक वृद्धि वाले राज्य
 सर्वाधिक कमी वाले राज्य


वर्ग किमी


वर्ग किमी
 1
कर्नाटक 
 1025 
 1
मणिपुर 
 499
 2
आंध्र प्रदेश 
  990
 2
अरुणाचल प्रदेश
 276
 3
 केरल
  823
 3
मिजोरम 
 180
 4
जम्मू तथा कश्मीर 
  371 
 4
मेघालय 
   27
 5
हिमाचल प्रदेश  
  334
 5
नगालैंड
     3

क्षेत्रफल के आधार पर सर्वाधिक वन क्षेत्र
प्रतिशत के आधार पर सर्वाधिक वन


वर्ग किमी



1
मध्य प्रदेश
77,482
1
लक्षद्वीप
 90.33%
2
अरुणाचल प्रदेश
66,688
2
मिजोरम
85.41%
3
छत्तीसगढ़
55,611
3
अंडमान निकोबार
81.74%
4
उड़ीसा
51,619
4
अरुणाचल प्रदेश
79.63%
5
महाराष्ट्र
50,778
5
मेघालय
76.33%

2019 में भारत का वृक्ष तथा वनावरण -

 वर्ग
 क्षेत्रफल (वर्ग किमी)
 वनावरण
 भौगोलिक क्षेत्रफल का %
 अति सघन वन
   99,278 
  3.02%
 मध्यम सघन वन
3,08,472
  9.38%
 खुले वन
3,04,499
  9.26% 
 कुल वनावरण
7,12,249 
21.67% 
 वृक्षावरण
   95,027
  2.89%
 कुल वन तथा वृक्षावरण
8,07,276 
24.56%
 झाड़ियां
   46,297
  1.41%

17 राज्यों तथा केंद्रशासित प्रदेशों में 33% से अधिक वनावरण है -


 75 % से अधिक वनावरण
 33 - 75 % वनावरण


 %


  %
 1
लक्षद्वीप
90.33
त्रिपुरा 
73.68 
 2
मिजोरम 
85.41
2
गोवा 
60.43
 3
अंडमान निकोबार
81.74
केरल 
54.42 
 4
अरुणाचल प्रदेश
79.63
सिक्किम
47.10
 5
मेघालय
76.33
उत्तराखंड
45.44 
 6
मणिपुर
75.46
दादरा नागर हवेली
42.16 
 7
नगालैंड
75.31 
छत्तीसगढ़
41.13



जम्मू कश्मीर 
39.66



असम
36.11 



10
उड़ीसा 
33.15

देश का कुल वृक्षावरण 95,027 वर्ग किमी अनुमानित किया गया है। भारत वन स्थिति रिपोर्ट 2017 की तुलना में इसमें 1212 वर्ग किमी. की वृद्धि हुई है।

 सर्वाधिक वृक्षावरण वाले राज्य
 वृक्षावरण का सर्वाधिक प्रतिशत


 वर्ग किमी



 1
 महाराष्ट्र 
 10806 
1
चंडीगढ़
 22.34%
 2
 मध्य प्रदेश
   8339
दिल्ली
   8.73%
 3
 राजस्थान 
   8112
केरल
   7.56%
 4
 जम्मू व कश्मीर
   7944
4
गोवा   
   7.34%
 5
 उत्तर प्रदेश
   7342
5
दमन तथा दीव 
   5.75%

इस रिपोर्ट में पहली बार वनों से बाहर वृक्षों (TOF) का विस्तार बताया गया है, जो 2,93,840 वर्ग किमी (29.38 मिलियन हेक्टेयर) है, जो भारत के कुल वन व वृक्षावरण का 36.40% है।
TOF - Tree Outside Forest. (वनों के बाहर वृक्ष)


 TOF का सर्वाधिक विस्तार
 TOF का सर्वाधिक प्रतिशत


वर्ग किमी 



 1
महाराष्ट्र 
 26,945
 1
लक्षद्वीप
 93.30%
 2
उड़ीसा
 23,458
 2
केरल
 37.17%
 3
कर्नाटक   
 22,361
 3
गोवा
 36.05%
 4
मध्य प्रदेश   
 21,064
 4
छत्तीसगढ़
 34.41%
 5
जम्मू-कश्मीर
 19,334
 5
नगालैंड
 24.86%

Growing Stock of Wood (खड़ी लकड़ी का आयतन)
कुल:-  5915.76 मिलियन क्यूबिक मीटर
वनों के भीतर:-  4273.47 मिलियन क्यूबिक मीटर
वनों के बाहर:-  1642.29 मिलियन क्यूबिक मीटर

अरुणाचल प्रदेश में सर्वाधिक ग्रोइंग स्टॉक (533.08 क्यूबिक मीटर) है।
प्रति हेक्टेयर औसत ग्रोविंग स्टॉक वनों के भीतर 55.69 क्यूबिक मीटर प्रति हेक्टेयर तथा वनों के बाहर 7.87 क्यूबिक मीटर प्रति हेक्टेयर अनुमानित किया गया है।

अभिलेखित वन क्षेत्र (Recorded Forest Area - RFA)
• सरकारी अभिलेखों में वनों के रूप में दर्ज वन क्षेत्र अभिलेखित वन क्षेत्र कहलाते हैं। ऐसे क्षेत्र भारतीय वन अधिनियम या अन्य राज्य राज्यों के वन अधिनियमों के प्रावधानों के अंतर्गत बनाए जाते हैं।

• अभिलेखित वन क्षेत्र में आने वाले वनावरण में 330 वर्ग किमी.(0.05%) की मामूली कमी देखी गई है जबकि अभिलेखित वन क्षेत्र के बाहर वनावरण में 4,306 वर्ग किमी. की वृद्धि हुई है।

 सर्वाधिक अभिलेखित वन क्षेत्र
अभिलेखित वन क्षेत्र का सर्वाधिक % 


वर्ग किमी


 %
 1
मध्य प्रदेश
 94,689
 1
अंडमान निकोबार
 86.93
 2
महाराष्ट्र
 61,579
 2
सिक्किम
 82.31
 3
ओडिशा
 61,204
 3
मणिपुर 
 78.01
 4
छत्तीसगढ़
 59,772
 4
उत्तराखंड 
 71.05
 5
अरुणाचल प्रदेश
 51,407
 5
हिमाचल प्रदेश
 66.52

बांस क्षेत्र (Bamboo Bearing Area)
कुल:- 1,60,037 वर्ग किमी
वृद्धि:-  3229 वर्ग किमी

पहाड़ी क्षेत्रों की स्थिति:
देश के पहाड़ी जिलों में वनावरण 2,84,006 वर्ग किमी है, जो इन जिलों के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 40.30% है।  देश के 140 पहाड़ी जिलों में 544 वर्ग किमी. की वृद्धि हुई है।

जनजातीय क्षेत्रों की स्थिति:
भारत के जनजातीय ज़िलों में कुल वनावरण क्षेत्र 4,22,351 वर्ग किमी. है, जोकि इन ज़िलों के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 37.54% है।
• वर्तमान आकलन के अनुसार, इन ज़िलों में RFA/GW के अंतर्गत आने वाले कुल वनावरण क्षेत्र में 741 वर्ग किमी. की कमी आई है तथा RFA/GW के बाहर के वनावरण क्षेत्र में 1,922 वर्ग किमी. की वृद्धि हुई है।

उत्तर-पूर्व क्षेत्र की स्थिति:
उत्तर-पूर्व क्षेत्र में कुल वनावरण क्षेत्र 1,70,541 वर्ग किमी. है जोकि इसके कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 65.05% है।
• इस रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में कुल वनावरण क्षेत्र में 765 वर्ग किमी. (0.45%) की कमी आई है।
• असम तथा त्रिपुरा के अलावा सभी उत्तर-पूर्वी राज्यों में वन क्षेत्र में कमी हुई है‌।

आर्द्र भूमि
2019 की रिपोर्ट में आर्द्र भूमियों को RFA के तौर पर शामिल किया गया।
अभिलिखित वन क्षेत्र का 3.83% क्षेत्र कवर करने वाली 62,466 आर्द्र भूमियां है।
गुजरात के पास RFA में आर्द्रभूमियों का सर्वाधिक क्षेत्रफल है तथा दूसरे स्थान पर पश्चिम बंगाल है।

वनों में कार्बन स्टॉक
• वनों के द्वारा कार्बन सोखने की क्षमता।
कुल:- 7214.6 मिलियन टन
वृद्धि:- 42.6 मिलीयन टन
वार्षिक वृद्धि:- 21.3 मिलियन टन अर्थात हमारे वन सालाना 21.3% अधिक कार्बन सोख रहे हैं।

• भारत ने पेरिस समझौता 2016 के तहत 2030 तक 35% तक अधिक कार्बन सोखने का लक्ष्य तय किया था।

• भारत के वनों में ‘मृदा जैविक कार्बन’ (Soil Organic Carbon-SOC) कार्बन स्टॉक में सर्वाधिक भूमिका निभाते हैं, जोकि अनुमानतः 4004 मिलियन टन की मात्रा में उपस्थित हैं।
SOC भारत के वनों के कुल कार्बन स्टॉक में लगभग 56% का योगदान देते हैं।

वनाग्नि:दावानल
भारत के कुल वनावरण का 21.40% क्षेत्र वनों में लगने वाली आग से प्रभावित है।

मैग्रौव वन - समुद्र के आसपास का वन क्षेत्र।
कुल :- 4975 वर्ग किमी (देश के भौगोलिक क्षेत्रफल का 0.15%)
• इसमें 54 वर्ग किमी की वृद्धि हुई है। (2017 की तुलना में 1.10% की वृद्धि)

मैंग्रोव आवरण में सर्वाधिक वृद्धि वाले राज्य - 
  1. गुजरात 
  2. महाराष्ट्र 
  3. उड़ीसा

Global Forest Resources Assessment GFRA-2015

• खाद्य और कृषि संगठन (FAO) 1990 से प्रत्येक 5 वर्ष में इस रिपोर्ट को जारी करता है।
• इस रिपोर्ट में सदस्य देशों के वन, उनकी हालत और उनके प्रबंधन की रिपोर्ट का आकलन किया जाता है।
GFRA-2015 के अनुसार वन क्षेत्र की दृष्टि से भारत 10वें स्थान पर रहा था।

वन क्षेत्र के आधार पर शीर्ष 10 देश
1. रुस                2. ब्राजील
3. कनाडा           4. USA
5. चीन               6. DRC (कांगो)
7. ऑस्ट्रेलिया      8. इंडोनेशिया
9. पेरू              10. भारत

• सर्वाधिक वार्षिक वन क्षेत्र की वृद्धि के आधार पर भारत का 8वां स्थान है।
• वार्षिक वन क्षेत्र की वृद्धि 2010 से 2015  के बीच देखी गई थी।
1. चीन                2. ऑस्ट्रेलिया
3. चिली              4. USA
5. फिलीपींस       6. गबॉन
7. लाओस           8. भारत
9. वियतनाम      10. फ्रांस

• GFRA-2020 के अनुसार पिछले 10 वर्षों में वन क्षेत्र बढ़ाने के मामले में भारत तीसरे स्थान पर है।
• भारत में हर साल वन क्षेत्र में 0.38% की वृद्धि हुई है।
• 2010-20 के दौरान जिन 10 देशों के वन क्षेत्र में औसतन बढ़ोतरी हुई है, उनमें चीन, ऑस्ट्रेलिया, भारत, चिली, वियतनाम, तुर्की, अमेरिका, फ्रांस, इटली और रोमानिया शामिल है।

• राष्ट्रीय वन नीति-1952 (1988 में संशोधित) के अनुसार देश के कितने प्रतिशत भू-भाग पर वन होने आवश्यक है ? - 33%

• संयुक्त वन प्रबंधन कार्यक्रम की शुरुआत किस राज्य से की गई ? - ओडिशा (1988)

• भारत में सर्वाधिक मैंग्रोव वनावरण वाला राज्य है ? - पश्चिम बंगाल

• भारत वन स्थिति रिपोर्ट 2019 के अनुसार किस राज्य का सर्वाधिक आर्द्रभूमि क्षेत्र RFA के अंतर्गत आता है ? - गुजरात

• वनों पर ईंधन की लकड़ियों के लिए सर्वाधिक आश्रित राज्य है ? - महाराष्ट्र

• वनों पर चारा, इमारती लकड़ी, बांस के लिए सर्वाधिक आश्रित राज्य है ? - मध्य प्रदेश

• गंगा-ब्रह्मपुत्र डेल्टा के मैंग्रोव वनों में सुंदरी वृक्ष की अधिकता के कारण यहां के वनों को सुंदरवन भी कहते हैं।

SAVE WATER

Post a Comment

0 Comments