आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़ेें

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

6th international yoga day, DevEduNotes


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 

विश्वभर में प्रतिवर्ष 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।
21 जून 2020 को छठा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है।
2020 की थीम -
कोरोना महामारी के कारण कोई बड़ा कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जा रहा है। इस कारण इस बार की थीम घर में रहते हुए परिवार के साथ योग करना रखी गई है। (Yoga at home with family)

माय लाइफ, माय योगा प्रतियोगिता

• हाल ही 31 मई 2020 को प्रधानमंत्री मोदी ने माय लाइफ माय योगा नामक वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता लांच की।
• यह प्रतियोगिता 21 जून 2020 को मनाए जाने वाले छठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस में भाग लेने के लिए लोगों को प्रेरित करने के लिए शुरू की गई।
• इसके अंतर्गत लोगों को योगा करते हुए 3 मिनट का वीडियो आयुष मंत्रालय की वेबसाइट पर अपलोड करना होता है।
• माय लाइफ, माय योगा प्रतियोगिता आयुष मंत्रालय और भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद का संयुक्त प्रयास है।

योग शब्द का अर्थ

योग संस्कृत धातु युज से बना है जिसका अर्थ है - जोड़ना या मिलाना।
योग एक आध्यात्मिक प्रकिया है जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का कार्य होता है।  अर्थात व्यक्तिगत चेतना या आत्मा का सार्वभौमिक चेतना से मिलन।

ऐतिहासिक पृष्ठभूमि

• योग भारतीय संस्कृति का अभिन्न हिस्सा रहा है।
योग न केवल शरीर को रोगों से दूर रखता है बल्कि मन को भी शांत रखने का काम करता है।

• योग एक प्राचीन कला है जिसकी उत्पत्ति भारत में करीब 5000 साल पहले हुई थी।
सिंधु घाटी सभ्यता की मुद्राएं योग के प्रचलन का संकेत देती है।
• पहले के समय में, लोग अपने दैनिक जीवन में योग और ध्यान, पूरे जीवनभर स्वस्थ और ताकतवर बने रहने के लिए किया करते थे।
भगवत गीता में तीन प्रकार के योग का उल्लेख किया गया है - ज्ञान योग, कर्म योग, भक्ति योग।
• भगवत गीता के अनुसार - ।। योग: कर्मसु कौशलम: ।।
अर्थात कार्य की कुशलता ही योग है।
• महर्षि पतंजलि के अनुसार योग चित्त वृत्ति निरोध है अर्थात मन को नियंत्रित करना ही योग है।

योग दिवस की शुरुआत कैसे हुई

27 सितंबर 2014 को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग के फायदों का उल्लेख किया था।
तत्कालीन समय में संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत अशोक मुखर्जी ने भारत की तरफ से विश्व योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा और 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में 193 सदस्य देशों ने 21 जून को विश्व योग दिवस मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी।

योग दिवस 21 जून ही क्यों चुना गया?

दरअसल उत्तरी गोलार्द्ध में 21 जून सबसे लंबा दिन होता है। लिहाजा विश्व के अधिकांश देशों में इस दिन का खास महत्व है।
यह दिन आध्यात्मिक कार्यों के लिए भी अत्यंत लाभकारी है। भारतीय मान्यता के अनुसार आदि योगी शिव ने इसी दिन मनुष्य जाति को योग विज्ञान की शिक्षा देनी शुरू की थी।
वे इसके बाद आदि गुरु बने।
इसीलिए 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में चुना गया है।


योग दिवस पर भारत के नाम दर्ज रिकॉर्ड

पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था। भारत ने पहले योग दिवस पर दो शानदार रिकॉर्ड भी बनाए थे। प्रधानमंत्री मोदी ने इस दिन 35 हजार से ज्यादा लोगों के साथ राजपथ पर योग किया था।
पहला रिकॉर्ड 35,985 लोगों के साथ योग करना और दूसरा रिकॉर्ड 84 देशों के लोगों द्वारा इस समारोह में हिस्सा लेना रहा।

बाबा रामदेव ने साल 2018 में कोटा में 2.5 लाख लोगों के साथ योग कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था।
भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के जवानों ने साल 2018 में 18,000 फीट की ऊंचाई पर लद्दाख के ठंडे रेगिस्तान में सूर्य नमस्कार किया और विश्व रिकॉर्ड बनाया।

21 जून 2019 को विश्व में पांचवां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।
2019 की थीम - 
1. Yoga for climate action.
2. Yoga for heart.

2019 का राष्ट्रीय कार्यक्रम झारखंड की राजधानी रांची के धुर्वा प्रभात तारा मैदान में आयोजित किया गया।

पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया गया ? 21 जून 2015

2019 में कौनसे क्रम का अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया ? - 5वां अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस।

योग को बढ़ावा देने और उसके प्रचार प्रसार में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए निम्नलिखित को 2019 के प्रधानमंत्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया -
1.इटली की योग शिक्षक एनतोनियता रोजी।
2.जापान योग निकेतन को
3.गुजरात के लाइफ मिशन के स्वामी राजर्षि मुनि को
4.मुंगेर के बिहार स्कूल ऑफ योग को

SAVE WATER

Post a Comment

0 Comments