आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें PDF के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़े।

राजस्थान के खनिज संसाधन । Minerals of Rajasthan

 
Minerals of Rajasthan

राजस्थान के खनिज संसाधन

Minerals of Rajasthan.

(A) खनिज दृष्टिकोण:-

1. खनिज विविधता:- खनिज विविधता की दृष्टि से राजस्थान का देश में प्रथम स्थान है। यहां 81 प्रकार के खनिज पाए जाते हैं। इस कारण राजस्थान को खनिजों का अजायबघर कहा जाता है।

2. खनिज भंडारण:- खनिज भंडारण की दृष्टि से राजस्थान का देश में दूसरा स्थान है।
राजस्थान में सर्वाधिक खनिज भंडारण अरावली में है। इस कारण अरावली को खनिजों का भंडारघर कहा जाता है।

3. खनिज उत्पादन:- खनिज उत्पादन की दृष्टि से राजस्थान का देश में दूसरा स्थान है। देश के कुल खनिज उत्पादन का राजस्थान 22% खनिज उत्पादित करता है।
अधात्विक खनिज उत्पादन में राजस्थान का प्रथम स्थान है।
नोट:- राजस्थान अपने कुल खनिज उत्पादन का 15% धात्विक, 25% अधात्विक और 60% गौण खनिज उत्पादन करता है।

4. खनिज आय:- देश में 8वां स्थान है। 
खनिज आय की दृष्टि से राजस्थान एक पिछड़ा राज्य है क्योंकि राजस्थान में धात्विक खनिजों का उत्पादन कम (15%) होता है।

(B) खनिज चट्टाने:-
1. अवसादी चट्टानें - पश्चिमी राजस्थान क्षेत्र में।
अवसादी चट्टानों में अधात्विक खनिज मिलते हैं।
जैसे - पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस और कोयला।

2. धारवाड़ चट्टानें - अरावली क्षेत्र में।
धारवाड़ चट्टानों में धात्विक खनिज मिलते हैं।
जैसे - तांबा, लोहा अयस्क, सीसा-जस्ता-चांदी।

3. विंध्यन चट्टानें - पूर्वी राजस्थान क्षेत्र में।
इन चट्टानों में विभिन्न प्रकार के स्टोन पाए जाते हैं।
जैसे - सैंड स्टोन, लाइम स्टोन, कोटा स्टोन, रेड स्टोन।

4. अन्य पत्थर - राजसमंद में मार्बल और जालौर में ग्रेनाइट सर्वाधिक मिलता है।

(C) खनिजों का वर्गीकरण:-
1. धात्विक खनिज - a. लौह धातु b. अलौह धातु
2. अधात्विक खनिज

लौह धातु
अलौह धातु
अधात्विक खनिज
Trick - कालू मीना नागलो
KLMNT
• क्रोमाइट
• कोबाल्ट
• लोहा
• मैंगनीज
• निकल
• टंगस्टन
• टाइटेनियम 
महिलाओं के प्रिय
• सोना
• चांदी
• प्लैटिनम
जुड़वां खनिज
• सीसा (Pb)
• जस्ता (Zn)
टिन के तार
• टिन
• तांबा
BA मजे में हुई
• बॉक्साइट
• एल्यूमीनियम
• मैग्नीशियम (Mg)
• मर्करी/पारा (Hg)
• अभ्रक (Mica)
• जिप्सम/हरसौठ
क्ले:-
• चीनी मिट्टी (चाइना क्ले)
• फायर क्ले
• बॉल क्ले/बीकानेर क्ले
• ब्लीचिंग क्ले/मुल्तानी मिट्टी/Fuller's earth

पत्थर:-
• सैंड स्टोन
• लाइम स्टोन
• मार्बल

ऊर्जा खनिज:-
• यूरेनियम
• थोरियम





(D) खनिज उत्पादन:-

1. अरावली पेटी के खनिज:-
तांबा:-
झुंझुनू (प्रथम स्थान) - कोल्हन, खेतड़ी, चांदमारी।
सीकर - बन्नो की ढाणी (नीमकाथाना)
अलवर - खो-दरीबा

लौह अयस्क:-
जयपुर (प्रथम स्थान) - मोरिजा-बानोल
दौसा - नीमला-रायसेला
झुंझुनू - डाबला-सिंघाना। (अकेला डाबला आने पर सीकर)
उदयपुर - नाथू
• ना - नाथरा की पाल
• थू - थूर हुण्डेर

सीसा-जस्ता-चांदी:-
उदयपुर - जावर, देबारी
राजसमंद - राजपुरा दरीबा
भीलवाड़ा (प्रथम स्थान) - रामपुरा आगूचा, गुलाबपुरा आगूचा।
सीसा-जस्ता भंडारण वाले क्षेत्र:-
• चौथ का बरवाड़ा - सवाई माधोपुर
• गुडा किशोरीदास पुरा - अलवर

नोट :- अंजनी सलूंबर क्षेत्र (उदयपुर) - तांबा उत्पादन
• भागेल वारी (चित्तौड़गढ़) - तांबा उत्पादन
• तिरंगा क्षेत्र (भीलवाड़ा) - लौह अयस्क

प्रश्न.राजस्थान में तांबा भंडारण, उत्पादन क्षेत्र एवं उसके उपयोग की व्याख्या कीजिए ? (50 शब्द)

2. वागड़ पेटी वाले खनिज:-
बांसवाड़ा:-
• सोना - जगपुरा भूकिया, आनंदपुरा भूकिया।
• मैंगनीज - लीलवानी, कालाखूंटा, तलवाड़ा।
(Trick - लीला ने कालाखूंटा तोड़ा)

प्रतापगढ़ के केसरपुरा में हीरा मिलता है।
डूंगरपुर में मांडो की पाल से फ्लोराइट/फ्लोस्पर मिलता है।

नोट:- GSI के अनुसार - घोटिया अंबा (बांसवाड़ा) और उदयपुर में सोने के नवीनतम भंडार मिले हैं।

3. क्ले खनिज:-
• बॉल क्ले/बीकानेर क्ले - बीकानेर
• चीनी मिट्टी (चाइना क्ले) - बीकानेर
• फायर क्ले - बीकानेर
• ब्लीचिंग क्ले/मुल्तानी मिट्टी - बाड़मेर (प्रथम), बीकानेर

नोट:- सिलिका सैंड/रेत - बाड़ोदिया,बूंदी (प्रथम), जयपुर
• यह कांच उद्योग में उपयोगी होती है।

4. पत्थर वाले खनिज:-
• स्लेट स्टोन - अलवर
• सेंड स्टोन/बलुआ पत्थर - भरतपुर (बंसी पहाड़पुर)
• रेड स्टोन/लाल पत्थर/धौलपुर स्टोन - धौलपुर (प्रथम), करौली
• कोटा स्टोन - कोटा (प्रथम), चित्तौड़गढ़
• ग्रेनाइट - जालौर (प्रथम), बाड़मेर, सिरोही
• इमारती पत्थर - जोधपुर
• मार्बल (संगमरमर) - राजसमंद

नोट:- मार्बल की अन्य किस्में:-
• सफेद - मकराना (नागौर)
• पीला - पीथला (जैसलमेर)
• काला - भैंसलाना (जयपुर)
• सतरंगी - पादरला (पाली)
• हरा - ऋषभदेव (उदयपुर)
• गुलाबी - ऋषभदेव, बाबरमाल (उदयपुर)

मार्बल की सर्वाधिक उत्पादक इकाइयां राजसमंद में संचालित है।

नोट:- चूना पत्थर (लाइमस्टोन)
चूना पत्थर का सर्वाधिक उत्पादन जोधपुर से जबकि सर्वश्रेष्ठ प्रकार का चूना पत्थर सोनू क्षेत्र (जैसलमेर) में मिलता है।
• सीमेंट ग्रेड चूना पत्थर - चित्तौड़गढ़
• केमिकल ग्रेड चूना पत्थर - जोधपुर
सफेद सीमेंट बनाने में उपयोगी।
• स्टील ग्रेड चूना पत्थर - सोनू क्षेत्र (जैसलमेर)

5. पोटाश खनिज:-
Trick - जन सिंचेन्नई वाला
हनुमानगढ़ (प्रथम), बीकानेर, श्रीगंगानगर, चुरू

6. अरावली क्षेत्र के खनिज:-
सीकर:-
क - केल्साइट
प - पायराइट्स - सलादीपुर
अजमेर:-
Trick - क्वाटर लेकर फेल हो या
क्वार्टज, लिथियम, फेल्सपार
ग्रेफाइट (दूसरा स्थान - अलवर)
उदयपुर:-
एस्बेस्टस - ऋषभदेव
घीया पत्थर/सोप स्टोन - देवपुरा-सालोज
रॉक फास्फेट - झामर कोटडा (दूसरा स्थान - लाठी बिरमानिया जैसलमेर)

नोट:- राजस्थान में सर्वाधिक खनिज उत्पादन उदयपुर से होता है।

7. नागौर वाले खनिज:-
G - जिप्सम
T - टंगस्टन
जिप्सम भंडारण एवं उत्पादन क्षेत्र:-
नागौर:- गोट मांगलोद, भदवासी
बीकानेर:- जामसर *, लूणकरणसर
जैसलमेर:- पोकरण, चांदन
बाड़मेर:- कवास, उत्तरलाई

• जिप्सम का सर्वाधिक उत्पादन बीकानेर से होता है।

टंगस्टन भंडारण एवं उत्पादन क्षेत्र:-
नागौर:- डेगाना (रेवत की पहाड़ी)*
डेगाना नागौर में स्थित है, जहां टंगस्टन की सबसे बड़ी माइंस (खान) स्थित है, जो वर्तमान में बंद है।
पाली:- नाना-कराब
सिरोही:- आबू-रेवदर, वाल्दा*

8. एकाधिकार/100% राजस्थान से उत्पादित खनिज:-
• वालस्टोनाइट - बेल का मगरा (सिरोही)
• जास्पर - जोधपुर
• गारनेट/तामड़ा/रक्तमणि - अजमेर, टोंक
टोंक (प्रथम) - राजमहल, जनकपुर*
अजमेर - सरवाड़ खान*
• लालगेरू/हरमच (Ochre) - चित्तौड़गढ़
• पन्ना/हरी अग्नि - राजसमंद
कालागुमान खान - आमेठ, देवगढ़

आर्थिक समीक्षा 2020 21 के अनुसार राजस्थान के एकाधिकार वाले खनिज है:-
• सीसा-जस्ता
• वालस्टोनाइट
• सेलेनाइट (जिप्सम का एक प्रकार)

9. आण्विक/परमाणु ऊर्जा खनिज:-
• यूरेनियम (U)
सीकर - खंडेला पहाड़ी, रोहिला क्षेत्र
उदयपुर - उमरा
बारां - रामगढ़
• थोरियम (Th)
भीलवाड़ा - सरदारपुरा
पाली - भद्रावन

नोट:- अभ्रक (Mica)
Trick - बार (BAR)
दांता भूणास - भीलवाड़ा (प्रथम), अजमेर, राजसमंद
• अभ्रक को 'खनिजों का बीमार बच्चाा' कहा जाता है, क्योंकि देश की 20 बड़ी खानों से अभ्रक का केवल 50% उत्पादन होता है।

10. BBB वाले खनिज:-
• बेंटोनाइट - बाड़मेर
• बॉक्साइट - कोटा
बॉक्साइट एलुमिनियम का अयस्क है।
• बेरेलियम - 
Trick - जयपुर के गुर्जर ने अजमेर की बांदरी का उदयपुर में शिकार किया।
गुजरवाड़ा (जयपुर) - सर्वाधिक
बांदर सिंदरी (अजमेर)
शिकारबाड़ी (उदयपुर)

11. ऊर्जा खनिज:-
a. पेट्रोलियम
b. प्राकृतिक गैस
c. कोयला
उपरोक्त सभी का निर्माण टर्शियरी काल में हुआ है।

a. पेट्रोलियम:-
पेट्रोलियम का भंडारण राजस्थान में 4 बेसिन में है-
1. बाड़मेर-सांचौर बेसिन
अधिकार - केयर्न एनर्जी, ONGC
• पेट्रोलियम का सर्वाधिक भंडारण और सर्वाधिक उत्पादन बाड़मेर सांचौर बेसिन से होता है।

2. राजस्थान शेल्फ बेसिन - जैसलमेर
अधिकार - ONGC, PDVSA (वेनेजुएला)

3. बीकानेर-नागौर बेसिन 
अधिकार - OIL (Oil India Limited), Essar (एस्सार)

4. विंध्यन बेसिन
अधिकार - ONGC, केयर्न एनर्जी

पेट्रोलियम उत्पादन क्षेत्र:-
बाड़मेर (प्रथम)
नागाना - मंगला
बायतू - ऐश्वर्या
कोसलू - सरस्वती
गुढ़ा-मालानी - रागैश्वरी

मंगला:- यह बाड़मेर में स्थित राजस्थान का प्रथम पेट्रोलियम 
कुआं है। यहां से पेट्रोलियम उत्पादन की शुरुआत 29 अगस्त 2009 को हुई।
• राजस्थान में पेट्रोलियम उत्पादन वर्तमान में सर्वाधिक इसी क्षेत्र से होता है।

बाड़मेर में अन्य पेट्रोलियम कुएं:-
भाग्यम, विजया, शक्ति, कामेश्वरी

जैसलमेर (दूसरा स्थान)
Trick - बाग में साधा तना चन्नेवाला
बाघेवाला (PDVSA), साधेवाला, तनोट, चिन्नेवाला।

बीकानेर (तीसरा स्थान)
• तुवरीवाला
• पूनम क्षेत्र:- यह बीकानेर-नागौर बेसिन में स्थित है।
खोज - OIL द्वारा
उत्पादन क्षमता - 30,000 बैरल/प्रतिदिन

नोट:- 1 बैरल = 159 लीटर

नोट:- देश में सर्वाधिक पेट्रोलियम उत्पादन
1. अपटीय क्षेत्र (बॉम्बे हाई)
2. राजस्थान (बाड़मेर-सांचौर) = 23%
3. गुजरात
4. असम

• राजस्थान में पेट्रोलियम उत्पादन 1,60000-170,000 बैरल/प्रतिदिन होता है।

b. प्राकृतिक गैस:-
राजस्थान में प्राकृतिक गैस का सर्वाधिक भंडारण एवं उत्पादन - जैसलमेर
उत्पादन क्षेत्र:-
जैसलमेर (प्रथम स्थान)
Trick - डंडे का गम राम तूने मन में घोटा
डांडेवाला, गुमानेवाला, रामगढ़, तनोट, मनिहारी टिब्बा, घोटारु

बाड़मेर (दूसरा स्थान)
गुढ़ा-मालानी - रागैश्वरी 

नोट:- राजस्थान में सर्वाधिक पेट्रोलियम उत्पादन केयर्न एनर्जी तथा प्राकृतिक गैस उत्पादन फोकस एनर्जी कंपनी द्वारा किया जाता है।

c. कोयला:-
राजस्थान में कोयले के सर्वाधिक भंडारण एवं उत्पादन - बाड़मेर
निर्माण काल के आधार पर कोयला दो प्रकार का होता है -
गोंडवाना लैंड काल - 98% 
टर्शियरी काल - 2%
राजस्थान में टर्शियरी काल का कोयला पाया जाता है।

• कार्बन की मात्रा के आधार पर कोयले के प्रकार -
प्रकार
कार्बन की मात्रा
रंग
एंथ्रेसाइट
95%
काला-चमकीला
बिटुमिनस
60-70%
काला-भूरा
लिग्नाइट
50-60%
भूरा कोयला
पीट
50%
हल्का भूरा

उत्पादन क्षेत्र:-
बाड़मेर (प्रथम स्थान)
Trick - कपूर जा गिरा भादरेस
कपूरडी, जालीपा, गिरल, भादरेस

बीकानेर (दूसरा स्थान)
B - बीठनोक
B - बरसिंगसर
P - पलाना
G - गुढ़ा

पलाना:- देश में सर्वश्रेष्ठ लिग्नाइट पलाना से प्राप्त होता है।
यह बीकानेर में स्थित है।

नागौर (तीसरा स्थान)
मेडता सिटी
ईग्यार
मातासुख-कसनाऊ क्षेत्र

नोट:-
राजस्थान से मुख्यत: लिग्नाइट कोयला उत्पादित होता है।
सर्वाधिक लिग्नाइट उत्पादन -
प्रथम - तमिलनाडु
द्वितीय - गुजरात
तृतीय - राजस्थान

प्रमुख खनिजों का उपयोग:-
तांबा
लोहा



अपडेट जारी है.....

Post a Comment

0 Comments