आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें PDF के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़े।

राजस्थान की लोक गायन शैलियां। प्रमुख संगीत घराने।

Folk singing styles of Rajasthan




राजस्थान की लोक गायन शैलियां‌

Folk singing styles of Rajasthan.

मांड गायन शैली
प्राचीन काल में जैसलमेर क्षेत्र को मांड कहा जाता था तथा यहां विकसित लोक गायन शैली मांड गायन शैली कहलाती है।
मुख्य गीत - केसरिया बालम

मुख्य कलाकार - 
1. अल्लाह जिलाई बाई -बीकानेर 
2. गवरी बाई - बीकानेर
3. गवरी बाई - पाली
4. मांगी बाई - उदयपुर
5. जमीला बानो - जोधपुर
6. बन्नो बेगम - जयपुर

मांगणियार लोक गायन शैली
जैसलमेर बाड़मेर क्षेत्र में मांगणियार जाति द्वारा विकसित गायन शैली मांगणियार कहलाती है। 

मुख्य कलाकार - 
1. साकर खां (कमायचा से संबंधित)
2. सद्दीक खां (खड़ताल का जादुगर) 

मुख्य वाद्य यंत्र -
 1. कमायचा  2. खड़ताल

नोट - सद्दीक खां मांगणियार लोक कला अनुसंधान परिषद - जयपुर

लंगा
बाड़मेर-जैसलमेर क्षेत्र में लंगा जाति द्वारा विकसित लोक गायन शैली।
मुख्य वाद्य यंत्र - 
1. कमायचा   2. सारंगी

मुख्य गीत - नींबूडा (गर्भवती महिला द्वारा गाए जाने वाले गीत) 

तालबन्दी
औरंगजेब ने संगीत पर प्रतिबंध लगा दिया था। अतः ब्रज प्रदेश के साधु-संत राजस्थान आ गए थे। उनके द्वारा करौली-सवाई माधोपुर क्षेत्र में विकसित लोक गायन शैली तालबंदी कहलाती है।

मुख्य वाद्य यंत्र - नगाड़ा


राजस्थान के संगीत घराने

जयपुर घराना
प्रवर्तक - मनरंग (भूपत खां)
मुख्य कलाकार - मोहम्मद अली खान  (कोठी वाले)

पटियाला घराना (जयपुर घराने की शाखा)

प्रवर्तक - 
1. अली बख्श
2. फतेह अली
(आलिया - फत्तू) 
टोंक के नवाब ने अली व फतेह को जनरल- कनरल की उपाधि दी थी। 

मुख्य कलाकार - गुलाम अली।

अतरौली घराना (जयपुर घराने की शाखा) 
प्रवर्तक - साहब खां 
मुख्य कलाकार - मानतौल खां (रूलाने वाला फकीर) 

मेवाती घराना
प्रवर्तक - घग्घे नजीर खां
मुख्य कलाकार - पंडित जसराज

किराना घराना
प्रवर्तक - बंदे अली खां 

मुख्य कलाकार - 
1. भीमसेन जोशी
2. उस्ताद रज्जब अली
3. रोशन आरा बेगम
4. गंगूबाई हंगल 

अल्लादिया खां का घराना
प्रवर्तक - अल्लादिया खां 
मुख्य कलाकार - किशोरी अमोणकर

सेनिया घराना
प्रवर्तक - सूरत सेन
मुख्य कलाकार - अमृत सेन

बीनकार घराना 
प्रवर्तक - रज्जब अली खान बीनकार (जयपुर के राजा रामसिंह द्वितीय के दरबारी) 

डागर घराना
प्रवर्तक - बहराम खां डागर 

रंगीला घराना
प्रवर्तक - रमजान अली (मियां रंगीले)

SAVE WATER

Post a Comment

0 Comments