आपका स्वागत है, डार्क मोड में पढ़ने के लिए ऊपर क्लिक करें अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल DevEduNotes से जुड़ेें

अध्याय - 9 काॅर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व

Lok prashasan, DevEduNotes



काॅर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व

Corporate Social Responsibility (CSR)

सीएसआर से तात्पर्य उन गतिविधियों व व्यवहार से है जिसमें एक कंपनी/कॉर्पोरेट लाभार्जन के बदले जनकल्याण व विकास गतिविधियों को संचालित करती है।
जैसे - प्रोजेक्ट सखी - हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड - महिला सशक्तिकरण हेतु
नन्ही कली - महिंद्रा फाउंडेशन प्रोग्राम - बालिका शिक्षा हेतु

कंपनी एक्ट-2013 की धारा-135 में सीएसआर एक्ट का प्रावधान किया गया है।

(1) वह कंपनी जिसका टर्नओवर 1000 करोड़ या नेटवर्थ 500 करोड़ या औसत लाभ 5 करोड़ हो ऐसी कंपनियां अपने लाभ का 2% सीएसआर के अंतर्गत खर्च करेंगी।

(2) ऐसी कंपनियां एक सीएसआर कमेटी का गठन करेगी तथा यह कंपनी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर को सीएसआर गतिविधियों के संबंध में सलाह एवं परामर्श देगी।

सीएसआर गतिविधियां

(1) शिक्षा     
(2) स्वास्थ्य           
(3) रोजगार वृद्धि
(4) स्वच्छता
(5) पर्यावरण संरक्षण
(6) प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण
(7) खेलों को बढ़ावा               
(8) पेयजल सुविधा
(9) गरीबी निवारण   
(10) जागरूकता

सीएसआर का महत्व
(1) सीएसआर से कंपनी की ब्रांड इमेज में वृद्धि होती है।
(2) सीएसआर से कंपनी के लाभ और निवेश में वृद्धि होती है।
(3) यह सामाजिक व आर्थिक परिवर्तन का माध्यम है।
(4) इससे सरकार के कार्यभार और उत्तरदायित्व में कमी होती है।
(5) इससे कर्मचारियों के मनोबल व अभिप्रेरणा में वृद्धि होती है।
(6) इससे प्रबंधक व कर्मचारियों के मध्य समन्वय व सहयोग में वृद्धि होती है।

सीएसआर की कमियां
(1) सीएसआर  व्यय सीमित क्षेत्र में किया जा रहा है
  (शिक्षा व स्वास्थ्य पर 44% किया जा रहा है)
(2) सीएसआर गतिविधियों से भारत के उत्तरी-पूर्वी राज्य अछूते है।
(3) सीएसआर गतिविधियों का संचालन केवल शहरी क्षेत्र में होता है तथा ग्रामीण भारत CSR गतिविधियों से अछूता है।
(4) कंपनी व स्थानीय प्रशासन में समन्वय का अभाव
(5) जागरूकता की कमी
(6) दंड के कठोर प्रावधानों का अभाव

सीएसआर एक्ट को प्रभावी बनाने के सुझाव
(1) दण्ड के कठोर प्रावधान किए जाए।
(2) स्थानीय प्रशासन व कंपनी के मध्य समन्वय व सहयोग में वृद्धि की जाए।
(3) सीएसआर से संबंधित जागरूकता वृद्धि हेतु सीएसआर एक्ट को स्कूल व कॉलेज के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाए।
(4) सीएसआर व्यय में अव्वल रहने वाली कंपनियों को पुरस्कार प्रदान किया जाना चाहिए। जिससे अन्य कंपनियां अभिप्रेरित होंगी।
(5) सीएसआर परियोजनाओं /व्यय का विस्तारण ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए।
(6) सीएसआर व्यय के क्षेत्रों का विस्तार किया जाए।

SAVE WATER

Post a Comment

0 Comments